सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

भारत निर्वाचन आयोग की अच्छाईयों को अपनायेगा भूटान


टाइम्स ऑफ़ कुशीनगर ब्यूरो 
कुशीनगर। भारत का पड़ोसी राष्ट्र भूटान भारत निर्वाचन आयोग की अच्छाइयों को लागू करने की योजना बना रहा है। इसके लिए भारतीय चुनाव व्यवस्था के गहन अध्ययन के लिए दो सदस्यी टीम कुशीनगर में पहुचीं और इसका गहन अध्ययन किया। 

लोकसभा के अन्तिम चरण का मतदान 12 मई को सम्पन्न होने वाला है। जिसके लिए चुनाव प्रचार जोर-शोर से चल रहा है। इस अन्तिम चरण के चुनाव में निर्वाचन आयोग की  बारिकियों को देखने केे लिए भूटान निर्वाचन आयोग के चुनाव प्रशिक्षण समन्वयक जेम सेवांग एवं निर्वाचन अधिकारी तेनजिन नामग्याल भगवान बुद्ध की परिनिर्वाण स्थली कुशीनगर में आये हुए थें। उन्होंने बताया कि भारत में मतदान के एक दिन पूर्व तक मतदाता जागरूकता अभियान चलता रहता है, जिससे मतदान प्रतिशत बढ़ता है।

जो लोकतंत्र के हित में है जबकि भूटान में चुनाव अधिसूचना जारी होने के बाद से ही जागरुकता कार्यक्रम रोक दिया जाता है। उन्होंने बताया कि तमाम अच्छाइयों की रिपोर्ट भूटान निर्वाचन आयोग को प्रस्तुत कर उसे यहां लागू करने की संस्तुति करेगें।

उन्होंने बताया कि लगभग 7 लाख की आबादी वाले भूटान में पांच पंजीकृत राजनीतिक दल है तथा मतदाताओं की संख्या कम है। प्रत्याशी चुनाव में 2.60 लाख रुपये खर्च कर सकता है जिसमें से 1.30 लाख रुपये सरकार देती है। टीम ने जनपद के अधिकारियों से वार्ता की, मतदान कार्मिकों का प्रशिक्षण के साथ ही मतदान स्थलों का भी अवलोकन किया। उन्होंने बताया कि बौद्ध होने के कारण कुशीनगर का दर्शन करना उनके लिए बड़ा सौभाग्य है। 

भ्रमण के दौरान संपर्क अधिकारी विद्या निवास मिश्र, लेखपाल ब्रजेश मणि त्रिपाठी, विकास जायसवाल आदि उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

कुशीनगर में देह व्यापार का धन्धा जोरों पर, यहीं से भेजी जाती है बाहर लड़कियां

कुशीनगर। उत्तर प्रदेश का कुशीनगर जो भगवान बुद्ध की परिनिवार्ण स्थली के रूप में विख्यात है और शान्ति के लिए लोग यहां आते है। ऐसे कुशीनगर में देह व्यापार का धन्धा जोड़ पकड़ लिया है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। पुलिस ने एक युवती को इस मामले में लिप्त होने की दशा में गिरफ्तार किया है।

जीवन का इतिहास और भूगोल बदलने वाले इस धन्धों को व्यूटी पार्लरों के माध्यम से चलाया जारहा है। कुशीनगर के एक व्यूटी पार्लर के माध्यम से सैकड़ों लड़कियों के जीवन का इतिहास बदल दिया गया। अभी यह धन्धा पल फुल रहा है।
जब एक युवती  को गोरखपुर पुलिस ने पकड़ा तो मामला प्रकाश में आया। कुशीनगर से लड़कियों को गुमराह कर देह व्यापार में झोकने वाली यह लड़की इस धन्धे का संचालन एक व्यूटी पार्लर से करती थी।

ज्योति नाम की यह लड़की पैसे की खातिर भोली-भाली लड़कियों को जाल में फंसा उनका एसएमएस बना शारीरिक शोषण कराती। इतना ही नहीं चंगुल में फंसे युवकों को पुलिस का भय दिखा मोटी रकम तक वसूलती रही। यही कारण है कि एक बार फंसा व्यक्ति या लड़की इसे डेंजर बेबी के नाम से जानते या पहचानते हैं। अपनी मासूमियत से इसने बड़े-बड़ों को अपना सं…

कुशीनगर में बीपीएल लाभार्थियों की संख्या 1.64 लाख

महामाया के अतिरिक्त लाभार्थियों की संख्या 1,09,259 कुशीनगर । उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में अतिरिक्त बीपीएल योजना के लाभार्थियों की संख्या 1,64,829 हो गयी है। जिसमें महामाया योजना के कुल 55,570 लाभार्थी शामिल हैं। महामाया के अतिरिक्त 1,09,259 लाभार्थियों का चयन 5,000 रुपये मासिक आय और कुछ अन्य मानकों के आधार पर किया गया है।
शासनादेश के अनुसार विकलांग, विधवा तथा भूमिहीनों को महामाया योजना के अंतर्गत चयनित कर लिया गया है। सभी 55,570 लाभार्थियों की सूची समाज कल्याण विभाग में भी उपलब्ध है। इन लाभार्थियों को अतिरिक्त बीपीएल योजना में भी सम्मिलित कर लिया गया है। इस तरह लाभार्थियों की संख्या बढ़कर 1,64,829 हो गई है।
इन सभी लाभार्थियों को दिसंबर से बीपीएल दर पर 35 किलोग्राम राशन, जिसमें 15 किलोग्राम गेहूं तथा 20 किलोग्राम चावल उपलब्ध कराया जाएगा। दिसंबर में प्रति लाभार्थी 15 किलोग्राम गेहूं तथा चावल उपलब्धता के आधार पर मुहैया कराया जाएगा।
इस योजना के तहत दुदही क्षेत्र में 11,696, सेवरही में 13,176, तमकुहीराज में 13,965, खड्डा में 8,870, नेबुआ नौरंगिया में 9,297, विशुनपुरा में 9,260, पडरौना …

पुरानी पेंशन पर दोहरी व्यवस्था नही चलेगी, कर्मचारियो ने भरी हुंकार

शम्भू शरण मिश्र/ हरिगोविन्द  टाइम्स ऑफ कुशीनगर ब्यूरो  पडरौना, कुशीनगर। कर्मचारी शिक्षक अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के तत्वाधान में कुशीनगर  जिला मुख्यालय के विकास भवन में सोमवार को कर्मचारियो ने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन आयोजित कर पुरानी पेंशन बहाली से संबंधित एक सुत्रीय मांग पत्र जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजा।
साथ ही कर्मचारियो ने निर्णय लिया गया कि पुरानी पेंशन बहाली तक कर्मचारी व शिक्षक आंदोलन करते रहेंगे। बाद में कर्मचारियों का प्रतिनिधिमंडल जनपद के प्रभारी मंत्री मोती सिंह से मिलकर पुरानी पेंशन बहाली का मांग पत्र भी सौंपा।
धरना प्रदर्शन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने कहा कि पुरानी पेंशन बहाली तक हम रुकने वाले नहीं हैं। संयोजक प्रभुनंद उपाध्याय ने कहा कि प्रदेश का कर्मचारी व शिक्षक अब जाग चुका है। विशिष्ट बीटीसी के मंडल मंत्री राजेश तिवारी ने कहा कि देश में दोहरी व्यवस्था नहीं चलने वाली है। राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के जिला संयोजक अविनाश शुक्ला ने कहा कि हम को हर हाल में सिर्फ और सिर्फ पुरानी पेंशन ही चाहिए। वही विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफ…