शुक्रवार, 24 मई 2013

पूर्णिमा का स्नान करने आयी महिला श्रद्धालु की नदी में डूब गयी बेटी



कुशीनगर । उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में पूर्णिमा के भ्रम में स्नान करने आयी एक श्रद्धालु मां ने अपनी 9 वर्षीय बेटी को गवा दिया। गोताखोर बच्ची की तलाश में जुटे हुए थे लेकिन देर रात तक कुछ पता नही चल सका।

यह घटना कुशीनगर के हाटा कोतवाली के ग्राम कपूर पिपरा निवासीनी बिधवा मंजू देवी के साथ उस समय घटी ज बवह अपनी 7 वर्षीय बेटी राधिका, 9 वर्षीया कोमल को लेकर अपने कारखाने में कार्य करने वाले मिस्त्री सुरेंद्र शर्मा के साथ पूर्णिमा तिथि समझकर नहाने आई। पता चला कि आज तिथि है ही नही। इसके बाद साथ आया मिस्त्री बड़ी बेटी को तैराने के लिए लेकर गंडक में उतरा। इस दौरान अचानक उसका हाथ छूट गया और वह पानी में डूब गई।

इस घटना के बाद मिस्त्री भाग चला तो और मां अपने छोटी बच्ची के साथ रोने लगी। इस स्थिति को देख वहां पर लोग जुटे। उधर थाना रामपुर कारखाना व तरकुलवा की सीमा पर घटी इस घटना पर रामपुर कारखाना पुलिस तो पहुंच गई लेकिन तरकुलवा पुलिस ने आने की जहमत नही उठाई थी। गोताखोरों व नाविकों की मदद से लापता बच्ची की तलाश देर शाम तक जारी थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

टिप्पणी करने के लिए आप को धन्यबाद!

.................................TIMES OF KUSHINAGAR

Translate Of Times Of Kushinagar

News journal

Loading...